सनावद (Sanawad) भारत के मध्य प्रदेश राज्य के खरगोन ज़िले में स्थित एक नगर है [1][2]

सनावद
Sanawad
सनावद is located in मध्य प्रदेश
सनावद
सनावद
मध्य प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 22°10′48″N 76°03′58″E / 22.180°N 76.066°E / 22.180; 76.066निर्देशांक: 22°10′48″N 76°03′58″E / 22.180°N 76.066°E / 22.180; 76.066
ज़िलाखरगोन ज़िला
प्रान्तमध्य प्रदेश
देश भारत
जनसंख्या (2011)
 • कुल38,740
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी, निमाड़ी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)

जनसंख्यासंपादित करें

सन् 2001 की जनगणना के अनुसार इसकी जनसंख्या 20,000 थी। इनमें पुरुषों और महिलाओं की आबादी क्रमशः 48% और 52% थी। यहाँ की साक्षरता 82% थी जिसमें पुरुष साक्षरता 86% और महिला साक्षरता 72% थी। यहाँ की जनसंख्या में ६ वर्ष से कम उम्र के बच्चों का हिस्सा 14% था।

विवरणसंपादित करें

इंदौर - खंडवा सड़क पर स्थित यह शहर अपने पॉलिटेक्निक महाविद्यालय के लिए प्रसिद्ध है। इस शहर में डिप्लोमा की गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज, वाणिज्य और विज्ञान के लिए एक सरकारी डिग्री कॉलेज, विज्ञान के एक निजी कॉलेज भी हैं। सनावद का पुराना नाम "गुलशनाबाद" है। जिले में शहर की राजनीतिक स्थिति मजबूत है। यह नर्मदा नदी के निकट (लगभग 7 किलोमीटर), इंदौर से 70 किलोमीटर और खरगोन (जिला मुख्यालय) और बड़वाह से 10 किलोमीटर जो तहसील से 60 किलोमीटर दूर स्थित है।

अर्थव्यवस्था व संस्कृतिसंपादित करें

इसकी स्थानीय अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि और व्यापार पर आधारित है। आसपास के क्षेत्र की मुख्य फसल गेहूं, कपास और सोयाबीन है। यहां का पीरंपीर एवं शीतला माता मेला बहुत प्रसिद्ध है। यहाँ मध्य - प्रदेश की सबसे छोटी बस स्टैंड चल रही है। नहर काम की वजह से निर्माण की कोर के कारण शहर खरगोन जिले में अपनी छाप बना रही है। यहां की ऊंची पहाड़ी पर पीरंपीर टेकारी नामक प्रसिद्ध दरगाह है और उसी पहाड़ी के नीचे मंदिर स्थित है। यह शहर मध्यप्रदेश, के प्रमुख शहरों इंदौर, खंडवा आदि से अच्छी तरह से सड़क द्वारा जुड़ा हुआ है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें