सबलगढ़ किला

भारत में 16वीं-17वीं सदी का किला

सबलगढ़ किला सबलगढ़ नगर में मुरैना से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर है। मध्यकाल में बना यह किला एक पहाड़ी के शिखर बना हुआ है। इस किले की नींव सबल सिंह चौहान ने डाली थी जबकि करौली के महाराजा गोपाल सिंह ने 18वीं शताब्दी में इसे पूरा करवाया था। कुछ समय बाद सिंकदर लोदी ने इस किले को अपने नियंत्रण में ले लिया था लेकिन बाद में करौली के राजा ने मराठों की मदद से इस पर पुन: अधिकार कर लिया। किले के पीछे सिंधिया काल में बना एक बांध है, जहां की सुंदरता देखते ही बनती है। सबलगढ़ का किला अत्यंत सुन्दर एवं मनमोहक है।

सबलगढ़ दुर्ग
बाद में (करौली राजवंश) का हिस्सा
सबलगढ़, मध्य प्रदेश
सबलगढ़ दुर्ग की मध्य प्रदेश के मानचित्र पर अवस्थिति
सबलगढ़ दुर्ग
सबलगढ़ दुर्ग
सबलगढ़ दुर्ग की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
सबलगढ़ दुर्ग
सबलगढ़ दुर्ग
निर्देशांक26°14′28.8″N 77°24′20.2″E / 26.241333°N 77.405611°E / 26.241333; 77.405611
प्रकाररक्षा किला
निर्माण जानकारी
नियंत्रकमध्य प्रदेश सरकार
जनता हेतु
खुला
हां
दशास्मारक
इतिहास
निर्मित१७-१८वीं सदी
निर्माणकर्तासबल सिंह चौहान,बाद में(गोपाल सिंह)
प्रयोगाधीननहीं
सामग्रीपत्थर, बलुआ पत्थर