समद्विबाहु समलम्ब

समद्विबाहु समलम्ब (Isoscyeles trapezium/ isosceles trapezoid ज्यामिति की एक आकृति है।

समद्विबाहु समलम्ब

परिभाषासंपादित करें

यदि किसी समलंब में समान्तर भुजाओं के अतिरिक्त अन्य दो भुजाएं बराबर हों तो वह समलंब समद्विबाहु समलंब कहलाता है। [1]

विशेष समद्विबाहु समलंबसंपादित करें

 
समद्विबाहु समलम्ब special cases

समद्विबाहु समलंब में तीन भुजाएं भी समान हो सकती हैं।इसे समत्रिबाहु समलंब (trisosceles trapezoid)[1] कहते हैं। आयत और वर्ग भी विशेष समद्विबाहु समलंब की आकृतियां हैं। (पार्श्व चित्र में देखिये )

विशेषतासंपादित करें

  • समद्विबाहु समलंब के दोनों विकर्ण समान होते हैं।
  • यदि समलंब की तीन भुजाएं समान हैं तो समलंब के दोनों विकर्ण समान होंगे।
  • आयत भी एक समलंब है इसके भी दोनों विकर्ण सामान हैं।
  • वर्ग भी एक समलंब है इसके भी दोनों विकर्ण समान हैं।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 26 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 सितंबर 2016.