मुख्य मेनू खोलें

परिभाषासंपादित करें

खण्डोंआकृतियों का सामान्य नाम है। बहुभुज कई सरल रेखाओं से बंद होता है। इन सरल रेखाओं को बहुभुज की 'भुजा' कहते हैं। जहां दो भुजाएँ मिलती हैं वह कोण कहलाता है।

बहुभुज अंग्रेजी शब्द 'पोलीगोन' का हिंदी रूपांतरण है। अंग्रेजी में पोलीगोन शब्द ग्रीक भाषा के दो शब्दों को मिलने से बना है। इसमें पहला शब्द पोली यानी बहुत और गोनिया यानी कोण. इस तरह पोलीगोन का अर्थ बहुकोण है। इसी तरह बहुभुज संस्कृत के दो शब्दो के मेल से बनाया गया है। जिसमें बहु यानी अनेक और भुज यानी भुजा अर्थ देता है। हिंदी में अंग्रेजी के कोण की जगह भुजा को स्वीकार किया गया है। और इस तरह बहुभुज का जन्म हुआ है। आमतौर पर दो सरल रेखाओं के मिलने से कोण बनता है। लेकिन इसका मान 180 डिग्री नहीं होता है, क्योंकि ऐसा होने से ये कोण सरल रेखा बन जाएगा. )से बंद आकृति को सम बहुभुज कहते हैं।कहते हैं।

समबाहु बहुभुज के विविध आकारसंपादित करें

तीन भुजाओं मेंसंपादित करें

तीन भुजाएं सामान होने पर समबाहु त्रिभुज

चार भुजाओं मेंसंपादित करें

चार भुजाएं होने पर वर्ग तथा समचतुर्भुज

पांच या अधिक भुजाओं मेंसंपादित करें

पांच या पांच से अधिक भजायें होने पर सम पंचभुज , सम षट्भुज , सम सप्तभुज आदि भुजाओं के अनुसार सम बहुभुज बनते हैं।

सम

साँचा:बहुभु