किसी [सरकार] के वार्षिक आय और व्यय का कथन उस सरकार का बजट कहलाता है। सरकार का बजट प्रायः विधिवत ढंग से [वित्तमन्त्री] द्वारा एक नियत तिथि को प्रस्तुत किया जाता है, इसे विधायिका पारित करती है और मुख्य कार्यकारी या राष्ट्रपति अपनी स्वीकृति देते हैं। बजट में, आरम्भ हो रहे वित्तीय वर्ष के लिए, सरकार को होने वाली सम्भावित आय (राजस्व) तथा प्रस्तावित व्यय का विस्तृत विवरण होता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें