संगीत के सुरों का नाम सरगम दिया गया है। सरगम शब्द प्रथम चार सुरों के नामों के प्रथम अक्षर के मेल से बनाया गया है और एक प्रकार से इसे संक्षिप्तीकरण (abbreviation) भी कह सकते हैं।

सरगम

एक लैम्ब्डा के आकार के गामा के साथ काले आंकड़े मिट्टी के बर्तनों पर वर्णमाला
उल्लेखनीय कार्य {{{notable_works}}}

संगीत के मुख्य सात सुर होते हैं जिनके नाम षडज्, ऋषभ, गांधार, मध्यम, पंचम, धैवत और निषाद हैं। साधारण बोलचाल में इन्हें सा, रे, ग, म, प, ध तथा नि कहा जाता है। स्पष्ट है कि प्रथम चार सुरों के बिना मात्रा वाले अक्षरों को लेकर सरगम नाम बनाया गया है।

उपरोक्त सात मुख्य सुरों के अतिरिक्त पाँच सहायक सुर भी होते हैं जिन्हें कोमल रे, कोमल ग, तीव्र म, कोमल ध और कोमल नि कहा जाता है। इन्हीं सुरों की सहायता से संगीत की रचना की जाती है।

उदाहरण संपादित करें

  • स रे ग म प ध नि स
  • " जीवन की आपाधापी ": सात सुरों की सरगम![1]

सन्दर्भ संपादित करें

  1. "" जीवन की आपाधापी ": सात सुरों की सरगम!". अभिगमन तिथि May 06, 2013. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)