मुख्य मेनू खोलें

शल्य अन्तर्वेधन (surgical strike) ऐसे सैनिक आक्रमण को कहते हैं जो किसी दुश्मन देश की हानिकारक क्षमता या उसके विघटनकारी तत्वों को ही नष्ट करे जिसका कि लक्ष्य किया गया हो, इसके अलावा कम से कम या नहीं के बराबर नुकसान होना लक्ष्य रहता है।

सर्जिकल स्ट्राइक या सर्जिकल ऑपरेशन एक सुनियोजित सैन्य कारवाई होती है जिसका उद्येश्य एक निश्चित लक्ष्य पर हमला कर उसे नेस्तनाबूद करना होता है। इस कारवाई के दौरान इस बात का खास ख्याल रखा जाता है कि आसपास रहने वाले लोगों, इमारतों और गाड़ियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे। इस प्रकार के ऑपरेशन को सफल बनाने के लिए सरकार, खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा बलों के बीच समन्वय की आवश्यकता होती है। यह एक त्वरित और प्रभावी कारवाई होती है और इस घटना के बाद किसी भी स्थिति से निबटने के लिए अतिरिक्त सैन्य सहायता को भी तैयार रखा जाता है। सर्जिकल स्ट्राइक के तहत जिस स्थान पर हमला करना होता है उसकी पूरी जानकारी जुटाई जाती है एवं उसी के हिसाब से हमले की प्लानिंग की जाती है। इसके लिए विशेष कमांडो दस्ता तैयार किया जाता है और बहुत ही गोपनीय तरीके से कमांडो दस्ते को टारगेट तक पहुंचाया जाता है। इसके बाद दुश्मन को संभलने का मौका दिए बगैर दुश्मन पर चौतरफा हमला किया जाता है और उसे घेरकर वहीं तबाह कर दिया जाता है। सर्जिकल स्ट्राइक की अधिकांश घटना को देर रात को या अहले सुबह अंजाम दिया जाता है।

क्‍या है सर्जिकल स्‍ट्राइक?

किसी भी सीमित क्षेत्र में सेना जब दुश्मनों और आतंकियों को नुकसान पहुंचाने और उन्हें मार गिराने के लिए सैन्य कार्रवाई करती है तो उसे सर्जिकल स्ट्राइक कहते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक में इस बात का ध्यान रखा जाता है कि जिस जगह या इलाके में आतंकी या दुश्मन छिपे हुए हैं सिर्फ उसी जगह को निशाना बनाया जाए और इससे बाकी लोगों को कोई नुकसान न पहुंचे। इस ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए सेना के स्‍पेशल कमांडो को कमान सौंपी जाती है। जहां भी सर्जिकल स्‍ट्राइक होता है वहां के बारे में पहले से पुख्‍ता जानकारी एकत्र की जाती है। हेलीकॉप्‍टर के जरिए लक्ष्‍य के नजदीक तक पहुंचा जाता है। सर्जिकल स्‍ट्राइक की जानकारी बेहद गोपनीय रखी जाती है।

सन्दर्भसंपादित करें