जीवविज्ञान में सहभोजिता (Commensalism) अलग-अलग जाति के दो जीवों में ऐसा आपसी सहजीवन (symbiosis) होता है जिसमें एक जाति को दूसरी से लाभ हो लेकिन दूसरी जाति को पहली से न तो कोई लाभ हो और न ही कोई हानि।

हांगर (शार्क) के साथ अक्सर रेमोरा मछ्लियाँ यात्रा करती हैं। यह हांगर द्वारा शिकार करे गए जीवों के छोटे टुकड़े खाती हैं। इस से हांगर कोई कोई लाभ या हानि नहीं होती।

यह पारस्परण (mutualism) से भिन्न है क्योंकि पारस्परण में दोनों जातियाँ एक-दूसरे को लाभांवित करती हैं। यह परजीविता (parasitism) से भी भिन्न है जिसमें एक जाति को लाभ होता है और दूसरे को हानि।[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Mikula, Peter; Hadrava, Jiří; Albrecht, Tomáš; Tryjanowski, Piotr (19 March 2018). "Large-scale assessment of commensalistic–mutualistic associations between African birds and herbivorous mammals using internet photos". PeerJ. 6: e4520. PMC 5863707. PMID 29576981. डीओआइ:10.7717/peerj.4520. मूल से 2 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 4 अगस्त 2018.