किसी व्यक्ति की ऐसी संवेगात्मक प्रतिक्रियाएं जो दूसरे लोगों पर केंद्रित होती हैं, या जिसका रूझान दूसरे की तरफ होता है और जिससे करूणा की अनुभूति, हमदर्दी और चिंताएं शामिल होती है, उसे सहानुभूति (Sympathy) कहते हैं। इस तरह समानुभूति में सहानुभूति शामिल होती है। यदि हम किसी दूसरे व्यक्ति के प्रति समानुभूति रखते हैं तो इससे हमारा सहायता करने की प्रवृत्ति और मजबूत होती है। किंतु सहानुभूति सहायता की प्रवृत्ति की तरफ जाये, यह आवश्यक नहीं है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें