मुख्य मेनू खोलें

मिर्ज़ा मुहम्मद सिराज उद-दावला, (फारसी:مرزا محمد سراج الدولہ,बांग्ला: নবাব সিরাজদৌল্লা) प्रचलित नाम सिराज-उद्दौला (१७३३-२ जुलाई,१७५७) वैधानिक रूप से मुगल साम्राज्य केेे बंगाल प्रांंत जिसमें वर्तमान भारत के पश्चिम बंगाल बिहार झारखंड उड़ीसा तथा बांग्लादेश सम्मिलित था का अप्रैल सन 1756 में नवाब बना उसके शासन का अंत ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन का आरंभ माना जाता है। अंग्रेज़ उसे हिन्दुस्तानी सही ना बोल पाने के कारण सर रोजर डॉवलेट कहते थे।

सिराज उद-दौला
बंगाल के नवाब
Siraj ud-Daulah.jpg
सिराज उद-दौला
शासनावधिअप्रैल, १७५६ - जून,१७५७
पूर्ववर्तीअली वर्दी खान
उत्तरवर्तीमीर जाफर
संगिनीबेगम लुत्फुन्निसा
संतानउम्मे ज़ोहरा
पूरा नाम
मिर्ज़ा मुहम्मद सिराज उद्दौला
घरानाहीरा झील
पिताज़ैन-उद्दीन
माताअमीना बेगम
सिराजुद्दौला
जन्म: १७३३ मृत्यु: २ जुलाई १७५७
पूर्वाधिकारी
अलीवर्दी खान
बंगाल के नवाब
१७५६-१७५७
उत्तराधिकारी
मीर जाफर

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

टिप्पणीसंपादित करें

  • ^ Riyazu-s-salatin, A History of Bengal - a reference to Siraj-Ud-Daul's character may be found[1]
  • ^ The Seir Mutaqherin, Vol 2 - a discussion of Sirj-Ud-Daulah's character[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. http://erga.packhum.org/persian/pf?file=07601010&ct=64
  2. http://erga.packhum.org/persian/pf?file=07501022&ct=28
  • Akhsaykumar Moitrayo, Sirajuddaula, Calcutta 1898
  • BK Gupta, Sirajuddaulah and the East India Company, 1756-57, Leiden, 1962
  • Kalikankar Datta, Sirajuddaulah, Calcutta 1971