सुगम संगीत भारतीय संगीत विद्या का एक अंग है।[1] वह संगीत जिसमें जिसे सहजता से सीखा और गाया बजाया जा सके, जिसे निश्चित नियमों में बाँधा नहीं गया है, जो लोक में प्रिय है, सुगम संगीत कहलाता है। लोक गीत, लोकप्रिय संगीत, भजन, फ़िल्मी गीत आदि इसी श्रेणी में आते हैं।[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति" (PDF). मूल (PDF) से 25 मार्च 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मई 2015.
  2. डॉ॰ उमाशंकर तिवारी (१९९७). आधुनिक गीतकाव्य. वाणी प्रकाशन. पृ॰ १३५. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170555407.