मुख्य मेनू खोलें

सुतीक्ष्ण हिंदुओं के एक ऋषि थे। वनवास के दौरान प्रभु श्री राम इनके आश्रम मे रुके थे।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. अजय अटपटू (२०१५). छत्तीसगढ़ के लोकजीवन मे राम. वाणी प्रकाशन. पपृ॰ १७७. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9352290933. अभिगमन तिथि २५ मई २०१७.