सूर्यभारती प्रकाशन हिन्दी पुस्तकों के एक प्रमुख प्रकाशक हैं। इसकी स्थापना 1948 में हुई।यह राष्ट्रवादी लेखकों की पुस्तकें प्रकाशित करता है। नाथुराम गोडसे की आत्मकथा गांधी वध क्यों? यहां से प्रकाशित सबसे चर्चित पुस्तक रही। तेजपाल सिंह धामा की बेगमों की प्रेमकथाएं भी इस संस्थान की बेस्ट सेलर पुस्तक है।

स्थापनासंपादित करें

मुख्य प्रकाशनसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

टीकासंपादित करें