सुर्योदय दो शब्दों से मिलकर बना है — सूर्य और उदय की सन्धि से बना है। इसका अर्थ है — सूर्य का उदय होना या निकलना। सूर्योदय (या सूर्य ऊपर) वह क्षण है जब सूर्य का ऊपरी अंग क्षितिज पर दिखाई देता है। [१] यह शब्द सौर डिस्क के क्षितिज और इसके साथ वायुमंडलीय प्रभावों को पार करने की पूरी प्रक्रिया को भी संदर्भित कर सकता है। [2]