स्टीफन हॉकिंग

भौतिक विज्ञानी, लेखक

स्टीफ़न विलियम हौकिंग (8 जनवरी 1942– 14 मार्च 2018)[1], एक विश्व प्रसिद्ध ब्रितानी भौतिक विज्ञानी,[2] ब्रह्माण्ड विज्ञानी, लेखक और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में सैद्धांतिक ब्रह्मांड विज्ञान केन्द्र (Centre for Theoretical Cosmology) के शोध निर्देशक थे।

स्टीफ़न हॉकिंग
Stephen Hawking
CH CBE
कृष्ण एवं श्वेत चित्र जिसमें हौकिंग कार्यालय में कुर्सी पर बैठे हुए हैं।
१९८० में नासा में हॉकिंग
जन्म स्टीवन विलियम हौकिंग
8 जनवरी 1942
ऑक्सफोर्ड, इंग्लैण्ड
मृत्यु 14 मार्च 2018(2018-03-14) (उम्र 76)
आवास यूनाइटेड किंगडम
राष्ट्रीयता ब्रिटिश
क्षेत्र
संस्थान
शिक्षा
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज, ऑक्सफ़ोर्ड
  • ट्रिनिटी हॉल, कैम्ब्रिज
डॉक्टरी सलाहकार डेनिस स्कियमा
अन्य अकादमी सलाहकार रॉबर्ट बर्मन
डॉक्टरी शिष्य
  • राफेल बौस्सो
  • फेदोव्कर
  • गैरी गिबन्स
  • डॉन पेज
  • मैल्कम पेरी
प्रसिद्धि
उल्लेखनीय सम्मान

प्रारंभिक जीवनसंपादित करें

स्टीफन हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 को [23] ऑक्सफोर्ड में फ्रैंक (1905-1986) और इसाबेल एलेन हॉकिंग (नी वाकर; 1915-2013) के घर हुआ था।[3] हॉकिंग की मां का जन्म ग्लासगो, स्कॉटलैंड में डॉक्टरों के परिवार में हुआ था। यॉर्कशायर के उनके अमीर पैतृक दादाजी ने खुद को कृषि भूमि खरीदने के लिए बढ़ा दिया था और फिर 20 वीं शताब्दी की शुरुवात में महान कृषि अवसाद में दिवालिया हो गया था। उनके पैतृक दादी ने परिवार को अपने घर में एक स्कूल खोलकर वित्तीय बर्बाद कर दिया। अपने परिवार की वित्तीय बाधाओं के बावजूद, दोनों माता-पिता ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में भाग लिया, जहां फ्रैंक ने दवा पढ़ी और इसाबेल ने दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र पढ़ा। इसाबेल एक मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट के सचिव के रूप में काम करती थी, और फ्रैंक एक चिकित्सकीय शोधकर्ता थे। हॉकिंग की दो छोटी बहनें, फिलीपा और मैरी और एक गोद लिया भाई एडवर्ड फ्रैंक डेविड (19 55-2003) था।

1950 में, जब हॉकिंग के पिता नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल रिसर्च में पैरासिटोलॉजी के विभाजन के प्रमुख बने, तो उनका परिवार सेंट अल्बान, हर्टफोर्डशायर चला गया। सेंट अल्बान में, उनके परिवार को बहुत बुद्धिमान और कुछ हद तक विलक्षण माना जाता था; उनके परिवार में भोजन अक्सर चुपचाप एक पुस्तक पढ़ने के साथ बिताया जाता था। वे एक बड़े, अव्यवस्थित और खराब रखरखाव वाले घर में एक मितव्ययी अस्तित्व में रहते थे और एक परिवर्तित लंदन टैक्सीकैब में यात्रा करते थे। अफ्रीका में काम कर रहे हॉकिंग के पिता की अनुपस्थिति के दौरान, शेष परिवार ने मार्जर्का में चार महीने उनकी मां के दोस्त बेरेल और उनके पति, कवि रॉबर्ट ग्रेव्स के घर बिताये।

कार्यसंपादित करें

स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया। उन्हें 12 मानद डिग्रियाँ और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान प्राप्त हुये।[4] स्टीफ़न हॉकिंग की पुस्तक-रूप में प्रकाशित कृति है 'समय का संक्षिप्त इतिहास'। यह पुस्तक सन् 1988 में प्रकाशित हुई थी और अपनी तथ्यपरकता एवं वैज्ञानिकता के कारण इतनी लोकप्रिय हुई कि 10 वर्षों में इसकी दस लाख प्रतियाँ बिक गयीं। आज भी उसकी माँग बनी हुई है।[5]

मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मैंने ब्रह्माण्ड को समझने में अपनी भूमिका निभाई। इसके रहस्य लोगों के सामने खोले और इस पर किये गये शोध में अपना योगदान दे पाया। मुझे गर्व होता है जब लोगों की भीड़ मेरे काम को जानना चाहती है।

—स्टीफन हॉकिंग[4]

मुझे हमेशा यह गर्व रहेगा कि मैंने ब्रह्माण्ड को जानने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, विज्ञान के क्षेत्र में कई नई खोजे की और लोग मेरे इसी योगदान की प्रसंशा करते हैं।

—स्टीफन हॉकिंग[4]


इच्छामृत्यु पर विचार
लगभग सभी मांसपेशियों से मेरा नियंत्रण खो चुका है और अब मैं अपने गाल की मांसपेशी के जरिए, अपने चश्मे पर लगे सेंसर को कम्प्यूटर से जोड़कर ही बातचीत करता हूँ।

—स्टीफन हॉकिंग[4]

निधनसंपादित करें

एक परिवार के प्रवक्ता के मुताबिक, 14 मार्च 2018 की सुबह अपने घर कैंब्रिज में 'हॉकिंग' की मृत्यु हो गई थी। उनके परिवार ने उनके दुःख व्यक्त करने वाले एक बयान जारी किया था।[6]

प्रकाशित कृतियाँसंपादित करें

  1. समय का संक्षिप्त इतिहास (A Brief History of Time) -1988 (मूल अंग्रेजी में बैंटम बुक्स, अमेरिका द्वारा प्रकाशित; हिन्दी अनुवाद- अश्वपति सक्सेना, राजकमल प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड, नयी दिल्ली द्वारा 2001 में प्रकाशित, पेपरबैक प्रथम संस्करण-2015, चौथा संस्करण-2018)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

टिप्पणियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. प्रसिद्ध वैज्ञानिक प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन Archived 2018-03-14 at the Wayback Machine अमर उजाला १४ मार्च २०१८
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 1 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 25 नवंबर 2017.
  3. "Stephen Hawking Google Doodle: गूगल ने डूडल बनाकर दिग्गज वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग को किया याद". SA News Channel (अंग्रेज़ी में). 2022-01-09. अभिगमन तिथि 2022-01-09.
  4. "स्टीफ़न हॉकिंग की ग़ज़ब दास्तां". बीबीसी हिन्दी. 22 सितम्बर 2013. मूल से 24 सितंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 सितम्बर 2013.
  5. खगेन्द्र ठाकुर, वागर्थ, अंक-284, मार्च 2019, संपादक- शंभुनाथ, भारतीय भाषा परिषद, कोलकाता, पृष्ठ-95.
  6. "दुनिया के जाने माने वैज्ञानिक स्टीफ़न हॉकिंग का निधन". BBC News हिंदी. अभिगमन तिथि 2022-01-09.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें