नासा ने स्पेस X फाल्कन 9 रॉकेट प्रक्षेपित किया।

परिचयसंपादित करें

17 जनवरी को नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) ने अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित वैन्डेनबर्ग एयर फोर्स बेस से स्पेसX फाल्कन 9 रॉकेट का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया।

यह रॉकेट अपने साथ ओसियन मॉनिटरिंग सैटेलाइट जेसन–3 लेकर गया है। यह उपग्रह महासागर पर जलवायु परिवर्तन या मानव–प्रेरित परिवर्तन के अध्ययन में मदद करने के लिए महासागर के तल के स्थालकृति की जांच करेगा।

जेसन–3 मिशन की विशेषताएंसंपादित करें

  • अमेरिकी– यूरोपीय उपग्रह मिशनों की श्रृंखला का यह चौथा मिशन है जो महासागर की सतह की गहराई मापेगा।
  • इससे तूफान और समुद्री नौवहन की बेहतर भविष्यवाणी करने में अमेरिका की मदद करने की भी उम्मीद है।
  • यह 1992 में टोपेक्स/ पोसेडियन सैटेलाइट मिशन द्वारा शुरु किए गए ओशियन सर्फेस टोपोग्राफी मेजर्मेंट्स (समुद्र तल के पहाड़ और घाटियां) के समय श्रृंखला में विस्तार करेगा और फिलहाल चालू जेसन–1 और जेसन–2 मिशनों को जारी रखेगा।
  • जेसन–1 और ओएसटीएम/ जेसन–2 मिशन क्रमशः 2001 और 2008 में लॉन्च किए गए थे।
  • ये माप महासागरों में संचालन पैटर्नों और समुद्र स्तर में वैश्विक एवं क्षेत्रीय परिवर्तनों और गर्म होती दुनिया के जलवायु निहितार्थ के बारे में वैज्ञानिकों को महत्वपूर्ण सूचना मुहैया कराते हैं।
  • जेसन–3 का प्राथमिक उपकरण रडार अल्टीमीटर है। अल्टीमीटर बहुत उच्च सटीकता के साथ वैश्विक समुद्र के स्तर के अंतर को मापता है ( जैसे 1 इंच या 2.5 सेंटीमीटर के वैश्विक लक्ष्य के साथ 1.3 इंच या 3.3 सेंटीमीटर)

सन्दर्भसंपादित करें