स्माइली (या पसन्न चेहरा) एक मुस्कुराते चेहरे का प्रतित है जो चलित संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। 1963 में बनी पहली स्माइली का रूप सरल था जो एक पीले गोल में दो काले बिन्दु और एक गोलाकार चाप के साथ बना था। ये दो बिन्दु आँखे और गोलाकार चाप मुँह का प्रतिनिधित्व करते। दिसंबर 1963 में डिजाइनर हार्वे रॉस बॉल ने इस स्माइली को सर्वप्रथम बनाया था।[1]

स्माइली

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "बस 10 मिनट में बनी थी पहली स्माइली". नवभारत टाइम्स. मूल से 14 जनवरी 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१७.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें