हसन आबिदी[1]पाकिस्तान के मशहूर शायर और पत्रकार थे इनका जन्म ७ जुलाई १९२९ को जौनपुर [[उ.प्र.] में हुआ था और देश के बटवारे के बाद यह कराची पाकिस्तान में बस गए।नविश्त-ए-ने, जबीदा, फरार होना हरुफ़ का, कागज़ की कश्ती इनके रचना संग्रह हैं ६ सितम्बर २००५ को इन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।।

इन्हें भी देखेसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें