हिमकण, जमी हुई बर्फ़ के क्रिस्टलों के समूह को कहते हैं। किसी हिमकण की रचना की शुरुआत बर्फ के क्रिस्टल के रूप में तब होती है जब कोई सूक्ष्म बादल की बूंद परमशीतल होकर जम जाती है। हिमकण विभिन्न आकृति और आकार के होते हैं। परिवर्तित होता तापमान और आर्द्रता का स्तर किसी हिमकण के आकार को जटिल बना सकते है। किसी एक हिमकण की संरचना अपने आप में अद्वितीय होती है। पिघलकर फिर जमने की प्रक्रिया के कारण जो हिमकण बजाय एक कण के, एक गोले के रूप में गिरते हैं, कच्चे ओले कहलाते हैं।

प्रकाशीय सूक्ष्मदर्शी से देखने पर एक हिमकण

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें