हेम सरस्वती (१३वीं शताब्दी उत्तरार्ध) असमिया के प्राचीनतम साहित्यकारों में से हैं। उन्होने प्रह्लाद चरित नामक काव्य की रचना की।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें