किसी उत्पादन प्रक्रिया से सम्बन्धित अन्य बातें यथावत रखते हुए उत्पादन के कारक F को समान मात्रा में बढ़ाने पर उत्पादन में समान वृद्धि नहीं होती, बल्कि अपेक्षाकृत कम वृद्धि होती है।

अर्थशास्त्र में, ह्रासमान प्रतिफल (diminishing returns या law of diminishing returns) का अर्थ यह है कि किसी उत्पादन प्रक्रिया में जब किसी एक उत्पादन के कारक की मात्रा बढायी जाती है तो इससे आउटपुट में होने वाली वृद्धि क्रमश्ः कम होती जाती है। सामान्य शब्दों में कहें तो जितना ही गुड़ डालते जायेंगे, मिठास उतनी ही नहीं बढ़ेगी (कम बढ़ेगी)।.....