ज्यामिति में किसी चाप, रेखाखण्ड या वक्र द्वारा बनाया गया वह कोण जिसकी दोनों रेखाएं चाप की दोनों बिन्दुओं से होकर गुजरती हो, अन्तरित कोण (subtended angle) कहलाता है। प्रसंग के साथ साथ अर्थ बदलता रहता है। जैसे किसी वृत्त के चाप द्वारा बनाये गये कोण जिसका शिखर वृत के केंद्र पर हो, उसे 'चाप कोण' कहते हैं। ज्यामिति के नियम के अनुसार समान लम्बाई के चाप, केन्द्र पर समान कोण अंतरित करते हैं (बनाते हैं)।

एक चाप द्वारा किन्ही दो बिन्दुओं A और B पर अंतरित कोण

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें