जोहान फ्रेडरिक विल्हेम एडॉल्फ वॉन बेयर (31 अक्टूबर 1835 - 20 अगस्त 1917) एक जर्मन रसायनज्ञ थे जिन्होंने पहली बार इंडिगो का संश्लेषण किया।[1] उन्हें 1905 में रसायन शास्त्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[2]

अडॉल्फ वॉन बेयर

अडॉल्फ वॉन बेयर, 1905 में
जन्म जोहान फ्रेडरिक विल्हेम अडॉल्फ वॉन बेयर
31 अक्टूबर 1835
बर्लिन, जर्मन परिसंघ
मृत्यु अगस्त 20, 1917(1917-08-20) (उम्र 81)
स्टार्नबर्ग, जर्मन परिसंघ
राष्ट्रीयता जर्मनी
क्षेत्र कार्बनिक रसायन
संस्थान बर्लिन विश्वविद्यालय
स्ट्रासबर्ग विश्वविद्यालय
म्यूनिख विश्वविद्यालय
शिक्षा बर्लिन विश्वविद्यालय
डॉक्टरी सलाहकार रॉबर्ट विल्हेम बनसेन
फ्रेडरिक अगस्त केक्युल
डॉक्टरी शिष्य हरमन एमिल फिशर
जॉन उलरिक नेफ
विक्टर विलिगर
कार्ल थिओडोर लिबरमैन
कार्ल ग्राबे
प्रसिद्धि इंडिगो का संश्लेषण
उल्लेखनीय सम्मान रसायन शास्त्र में नोबेल पुरस्कार (1905)

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Adolf Baeyer, Viggo Drewsen (1882). "Darstellung von Indigblau aus Orthonitrobenzaldehyd (p)". Berichte der deutschen chemischen Gesellschaft. 15 (2): 2856–2864. डीओआइ:10.1002/cber.188201502274.
  2. Adolf von Baeyer: Winner of the Nobel Prize for Chemistry 1905 Armin de Meijere Angewandte Chemie International Edition Volume 44, Issue 48, Pages 7836 – 7840 2005 Abstract Archived 10 दिसम्बर 2012 at Archive.is