अध्यारोपण सिद्धान्त

अध्यारोपण सिद्धान्त (superposition principle) या अध्यारोपण गुण के अनुसार, किसी भी रैखिक निकाय में दो या दो से अधिक उद्दीपकों के कारण उत्पन्न कुल अनुक्रिया ((response) उन सभी उद्दीपकों के कारण उत्पन्न अलग-अलग अनुक्रियाओं के योग के बराबर होती है। उदाहरण के लिए यदि इनपुट A के कारण अनुक्रिया X उत्पन्न होती है तथा इनपुट B के कारण अनुक्रिया Y, तो इनपुट (A + B) के कारण उत्पन्न अनुक्रिया का मान (X + Y) होगा।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें