अरुण महर्षि कश्यप और विनता के पुत्र हैं। ये गरुड़ के बड़े भाई हैं, गरुड़ पक्षियों के राजा हैं। अरुण को भगवान सूर्यनारायण का सारथी माना जाता है। रामायण में प्रसिद्ध सम्पाती और जटायु इन्हीं के पुत्र थे।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें