मुख्य मेनू खोलें
IWW का "पूँजीवादी तंत्र का पिरैमिड"(1911 ई) नामक पोस्टर, जिसमें स्वल्पतंत्र का एक अराजक चित्र खींचा गया है।

स्वल्पतंत्र या 'ओलिगार्की' (Oligarchy) सामाजिक संगठन का वह स्वरूप है जिसमें राजनीतिक शक्ति मुख्य रूप से धनवान अभिजात्य वर्ग के हाथों में होती है। यह धनवान अभिजात्य वर्ग पूरी आबादी का एक छोटा सा हिस्सा होता है और वे अपनी इस राजनीतिक शक्ति का प्रयोग अपने ही वर्ग की हितरक्षा के लिये करते हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें