औतार सिंह चीमा (1933–1989) प्रथम भारतीय थे जो सफलता पूर्वक माउंट ऐवरेस्ट फतह किया। वो भारतीय सेना के दो असफल प्रयासों के पश्चात १९६५ में माउंट ऐवरेस्ट पर चढ़ने के लिए तैयार किये गये तीसरे मिशन का हिस्सा थे। उन्होंने २० मई १९६५ को सफलतापूर्वक विजय प्राप्त की। वो भारतीय सेना में पैराशूट पलटन का हिस्सा थे। बाद में उन्हें कर्नल के रूप में प्रोन्नति मिली।[1]

अवतार सिंह चीमा
Everest Expedition 1965 stamp of India.jpg
जन्म 1933
पंजाब क्षेत्र
मृत्यु 1989 Edit this on Wikidata
नागरिकता भारत, ब्रिटिश राज, कनाडा Edit this on Wikidata
पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार Edit this on Wikidata

उन्हें उनकी उपलब्द्धियों के लिए अर्जुन पुरस्कार और पद्म श्री से सम्मानित किया गया।[2] वो राजस्थान राज्य के श्रीगंगानगर जिले के निवासी थे।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 अक्तूबर 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 जून 2013.
  2. http://indianarmy.nic.in/Site/FormTemplete/frmTemp2P11C.aspx Archived 2011-09-24 at the Wayback Machine?