मुख्य मेनू खोलें

आरा-छपरा सेतु अथवा वीर कुँवर सिंह सेतु गंगा पर बना है।[2] यह भोजपुर जिले के बबुरा और सारण जिले के डोरीगंज को जोड़ता है।[3][4] इस पुल के बन जाने के बाद आरा से छपरा की दूरी 100 किमी कम हो गई।[5] आरा साइड में 16 किलोमीटर व छपरा साइड में एक किलोमीटर एप्रोच रोड है।[6] पुल के निर्माण पर 860 करोड़ खर्च अनुमानित है।[7][8] वर्ष 2010 में 676 करोड़ का लागत से इस सेतु का निर्माण शुरू किया गया।[9] एनएच 30 से शहर में आने वाली गाड़ियों बिना पटना पहुंचे ही उत्तर बिहार पहुंच जाएंगी।

आरा-छपरा सेतु
वीर कुंवर सिंह सेतु
Arrah Chhapra June 2017.jpg
वीर कुंवर सिंह सेतु
निर्देशांक25°43′41″N 84°48′52″E / 25.7279395°N 84.8144217°E / 25.7279395; 84.8144217
ले जाता है4-lane Extradosed bridge, High Level Bridge (approaches)
को पार करती हैGanges
स्थानीयArrah–Chhapra
विशेषता
डिजाइनExtradosed bridge
सामग्रीConcrete
कुल लंबाई4,350 मीटर (14,270 फीट)
चौड़ाई24 मीटर (79 फीट)
सबसे लम्बा स्पैन120 मीटर (390 फीट)[1]
स्पैन संख्या16
गली की संख्या4
इतिहास
निर्माण बंदUnder Construction

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. https://www.bridgeweb.com/Segment-installation-completed-for-record-breaking-extradosed-bridge/4355
  2. "Bridge opening boon for north Bihar link".
  3. "आरा-छपरा सेतु पर 11 जून से एक महीने चलेंगी सिर्फ छोटी गाड़ियां".
  4. "बिहार के लोगों को लालू के जन्मदिन पर मिलेगा 5 पुलों का तोहफा".
  5. "New bridges over Ganga reduce distance in Bihar".
  6. "खुशखबरी ! गांधी सेतु का विकल्प बनेगा आरा-छपरा व दीघा-सोनपुर पुल".
  7. "आरा-छपरा पुल पर जून से आवागमन".
  8. "Tejashwi Prasad Yadav to open 2 mega bridges on Pul Nigam day".
  9. "जमीन अधिग्रहण की समस्या और िनर्माण में देर से 156 करोड़ बढ़ गई आरा-छपरा सेतु की लागत, अब 832 करोड़ में बनेगा".

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें