मुख्य मेनू खोलें

आरा-छपरा सेतु अथवा वीर कुँवर सिंह सेतु गंगा पर बना है।[2] यह भोजपुर जिले के बबुरा और सारण जिले के डोरीगंज को जोड़ता है।[3][4] इस पुल के बन जाने के बाद आरा से छपरा की दूरी 100 किमी कम हो गई।[5] आरा साइड में 16 किलोमीटर व छपरा साइड में एक किलोमीटर एप्रोच रोड है।[6] पुल के निर्माण पर 860 करोड़ खर्च अनुमानित है।[7][8] वर्ष 2010 में 676 करोड़ का लागत से इस सेतु का निर्माण शुरू किया गया।[9] एनएच 30 से शहर में आने वाली गाड़ियों बिना पटना पहुंचे ही उत्तर बिहार पहुंच जाएंगी।

आरा-छपरा सेतु
वीर कुंवर सिंह सेतु
Arrah Chhapra June 2017.jpg
वीर कुंवर सिंह सेतु
निर्देशांक25°43′41″N 84°48′52″E / 25.7279395°N 84.8144217°E / 25.7279395; 84.8144217
ले जाता है4-lane Extradosed bridge, High Level Bridge (approaches)
को पार करती हैGanges
स्थानीयArrah–Chhapra
विशेषता
डिजाइनExtradosed bridge
सामग्रीConcrete
कुल लंबाई4,350 मीटर (14,270 फीट)
चौड़ाई24 मीटर (79 फीट)
Longest span120 मीटर (390 फीट)[1]
No. of spans16
गली की संख्या4
इतिहास
निर्माण बंदUnder Construction

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. https://www.bridgeweb.com/Segment-installation-completed-for-record-breaking-extradosed-bridge/4355
  2. "Bridge opening boon for north Bihar link".
  3. "आरा-छपरा सेतु पर 11 जून से एक महीने चलेंगी सिर्फ छोटी गाड़ियां".
  4. "बिहार के लोगों को लालू के जन्मदिन पर मिलेगा 5 पुलों का तोहफा".
  5. "New bridges over Ganga reduce distance in Bihar".
  6. "खुशखबरी ! गांधी सेतु का विकल्प बनेगा आरा-छपरा व दीघा-सोनपुर पुल".
  7. "आरा-छपरा पुल पर जून से आवागमन".
  8. "Tejashwi Prasad Yadav to open 2 mega bridges on Pul Nigam day".
  9. "जमीन अधिग्रहण की समस्या और िनर्माण में देर से 156 करोड़ बढ़ गई आरा-छपरा सेतु की लागत, अब 832 करोड़ में बनेगा".

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें