मुख्य न्यायाधीश इफ़्तिख़ार मोहम्मद चौधरी (उर्दू: افتخار محمد چودھری, जन्म 12 दिसम्बर 1948) 2005 में पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय के १८वें मुख्य न्यायाधीश हैं। उन्हें मुख्यतः पाकिस्तान में न्यायिक सक्रियता बढ़ाने के लिए जाना जाता है।[1] वो १२ दिसम्बर २०१३ को सेवानिवृत हुए।[2][3]

इफ़्तिख़ार मोहम्मद चौधरी
افتخار محمّد چودھری
Iftikhar Muhammad Chaudhry.jpg
पद बहाल
22 मार्च 2009 – 11 दिसम्बर 2013
Appointed by आसिफ अली ज़रदारी
पूर्वा धिकारी अब्दुल हमीद डोगर (कार्यवाहक)
उत्तरा धिकारी तस्सदुक़ हुसैन जिल्लानी
पद बहाल
20 जुलाई 2007 – 3 नवम्बर 2007
Appointed by परवेज़ मुशर्रफ़
पूर्वा धिकारी राणा भगवानदास (कार्यवाहक)
उत्तरा धिकारी अब्दुल हमीद डोगर (कार्यवाहक)
पद बहाल
30 जून 2005 – 9 मार्च 2007
Appointed by परवेज़ मुशर्रफ़
पूर्वा धिकारी नज़िम हुसैन सिद्दिक़ी
उत्तरा धिकारी जावैद इक़बाल (कार्यवाहक)

बलूचिस्तान उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश
पद बहाल
22 अप्रैल 1999 – 3 फ़रवरी 2000
Appointed by मियागुल औरंगजेब
पूर्वा धिकारी आमिर-उल-मुल्क मेंगल
उत्तरा धिकारी जावैद इक़बाल

जन्म 12 दिसम्बर 1948 (1948-12-12) (आयु 71)
क्वेटा, पाकिस्तान
शैक्षिक सम्बद्धता सिंध लॉ यूनिवर्सिटी
सिंध विश्वविद्यालय

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "मुशर्रफ को ज़मानत मिली, जल्द रिहाई". बीबीसी हिन्दी. ४ नवम्बर २०१३. अभिगमन तिथि १६ दिसम्बर २०१३.
  2. एहतशामुल हक़ (११ नवम्बर २०१३). "पाकिस्तानी न्यायपालिका का सुनहरा दौर ख़त्म?". बीबीसी हिन्दी. अभिगमन तिथि १६ दिसम्बर २०१३.
  3. "पाकिस्तान में न्याय व्यवस्था हुई मजबूत : इफ्तिखार चौधरी". दैनिक जागरण. १९ नवम्बर २०१३. अभिगमन तिथि १६ दिसम्बर २०१३.