अर्थशास्त्र में उत्पादन (Production) कुछ संसाधनों, तकनीकों और श्रम से किसी उपभोग करने वाली वस्तु या सेवा के बनाने को कहा जाता है। मसलन ऊन, सूत के धागों, बुनाई-सिलाई मशीनों में विद्युत की खपत और कारखानों में श्रमिकों के श्रम से स्वेटर उत्पादन करे जाते हैं।[1][2]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Kotler", P., Armstrong, G., Brown, L., and Adam, S. (2006) Marketing, 7th Ed. Pearson Education Australia/Prentice Hall.
  2. "Sickles, R., & Zelenyuk, V. (2019). Measurement of Productivity and Efficiency: Theory and Practice. Cambridge: Cambridge University Press. doi:10.1017/9781139565981" (PDF). मूल से 10 मई 2019 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 7 जुलाई 2020.