उमा सरेन भारत की सोलहवीं लोकसभा में सांसद हैं। 2014 के चुनावों में इन्होंने पश्चिम बंगाल की झाड़ग्राम सीट से सर्वभारतीय तृणमूल कांग्रेस की ओर से भाग लिया।[1]

उमा सरेन

कार्यकाल
2014 से 2019

राष्ट्रीयता भारतीय

प्रारंभिक जीवनसंपादित करें

सोरेन की जन्म ९ मई १९८४ को हुआ था। उनका  पिता रुबेन चंद्र सरेन भारतीय रेलवे में ग्रुप डी कर्मचारी थे । उन्होंने २०१४ में नील रतन सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल से एम.बी.बी.एस. डिग्री की पढाई की हैं।[2],[3] वह आदीवासी संथाल समुदाय से हैं। पेशे से एक चिकित्सक, वह अंतर-संसदीय संघ में संताली भाषा में बोलने तथा शपथ लेने वाली पहली महिला हैं। [4] २०१२ में, सरेन जंगलमहल भूमिपुत्र और कन्या मेडिकल एसोसिएशन में शामिल हो गए, जिसका उद्देश्य बंगाल-झारखंड सीमा में आदिवासियों को दूरस्थ क्षेत्रों में सुलभ चिकित्सा प्रदान करना था।[5]

राजनीतिक जीवनसंपादित करें

५ मई २०१४ को, तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने घोषणा की कि सरेन झाड़ग्राम निर्वाचन क्षेत्र से आगामी आम चुनाव लड़ेंगी।[6] उन्हें लोकप्रिय तथा प्रभाबशाली भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के उम्मीदवार पुलिन बिहारी बास्के के खिलाफ खड़ा किया गया था।[7] उन्होंने बस्के जी को ३,५०,७५६   भारी मतों से हराया और लोकसभा सीट के लिए चुनी गईं ।[8] वह भारत की पहली महिला संथाल सांसद बनीं। उन्होंने अपने राज्य तथा पश्चिम बंगाल प्रदेश में सबसे अधिक अंतर से भी जीत हासिल की।[8]

२८ मई २०१४ को, पार्लियामेंट भबन में संताली भाषा में बोलने तथा शपथ वाली पहली व्यक्ति बनीं । उन्होंने भारत में विभिन्न जनजातियों में दिखाई देने वाली कई समस्याओं के बारे में संसंद को बताया।[9]

२०१४ में, सांसद बनने के बाद उन्‍हें रसायन एवं उर्वरक की स्‍थाई समिति और आदिवासी मामलों की सलाहकार समिति का सदस्‍य बनाया गया।[10]

अप्रैल २०१७ में, सरेन ने राज्य के ३,००० स्कूलों के लिए छत के पंखे, एलईडी लैंप और वाटर कूलर खरीदने के लिए अपने MPLADS फंड से ₹ १६.३ करोड़ रुपय का उपयोग किया।[11],

१२ मार्च २०१९ को, सर्वभारतीय तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने फिर से उन्हें अगले चुनाव के लिए उतारा। पार्टी सदस्य ने आरोप लगाया कि उसने MPLADS फंड का सही इस्तेमाल नहीं किया है।[12]

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "भारतीय चुनाव आयोग की अधिसूचना, नई दिल्ली" (PDF). मूल से 30 जून 2014 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 19 जुलाई 2016.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 28 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 16 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  4. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  5. https://eisamay.indiatimes.com/election-news/uma-gets-ticket-for-tmc/articleshow/31656829.cms
  6. "संग्रहीत प्रति". मूल से 28 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  7. "संग्रहीत प्रति". मूल से 17 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  8. "संग्रहीत प्रति". मूल से 24 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.
  9. Mar 28, Sukumar Mahato | tnn |; 2018; Ist, 01:45. "Santhal MP brings tribal issues in Geneva focus | Kolkata News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-07.
  10. https://hindi.oneindia.com/politicians/uma-saren-36915.html
  11. "Santhali to ring out at Inter Parliamentary Union in Geneva". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 2018-03-23. मूल से 9 जून 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2020-03-07.
  12. "संग्रहीत प्रति". मूल से 3 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2020.