मुख्य मेनू खोलें
विकर्स का कठोरतामापी
एलास्टोमर पदार्थों के बल-विकृति ग्राफ में हिस्टेरिसिस पायी जाती है (प्रतिबल बढ़ाने पर और घटाने पर ग्राफ अलग-अलग मार्ग से जाता है)। इसे एलास्टिक हिस्टेरिस कहते हैं। प्रतिक्षेप कठोरता (रिबाउण्ड हार्डनेस) का मापन इसी सिद्धान्त पर आधारित है। प्रत्यास्थ पदार्थों में यह हिस्टेरिसिस् नहीं पायी जाती।

कठोरता (Hardness) किसी ठोस का वह गुण है जिससे पता चलता है कि उस पर बल लगाने पर उसे स्थायी रूप से विकृत करने की कितनी सम्भावना है। सामान्यतः अधिक कठोर ठोस वह होता है जिसमें अन्तराणविक बल अधिक मजबूत होगा। कठोरता किसी material की वह property हैं जिसके कारण वह खुरचे जाने और कटे जाने का विरोध करता हैं। कठोर पदार्थों के कुछ उदाहरण : सिरामिक (ceramics), कंक्रीट (concrete), कुछ धातुएँ तथा अतिकठोर पदार्थ

'कठोरता' को मापने के अलग-अलग तरीके हैं :

  • खरोंच कठोरता (scratch hardness),
  • इंडेंटेशन कठोरता (indentation hardness), तथा
  • प्रतिक्षेप कठोरता (rebound hardness)

कठोरता परीक्षक तथा कठोरता मापन के पैमानेसंपादित करें

कठोरता, पदार्थों का महत्वपूर्ण गुण है। इसे मापने वाले उपकरण 'कठोरतामापी' (हार्डनेस टेस्टर) कहलाते हैं। अलग-अलग प्रकार के पदार्थों के लिये कठोरता परीक्षण की अलग अलग विधियाँ और पैमाने हैं:

धातुओं के लिये:

  • रॉकवेल कठोरता मापक्रम (Rockwell hardness scale)
  • ब्रिनेल कठोरता मापक्रम (Brinell hardness scale)
  • विकर्स कठोरता मापक्रम (Vickers hardness scale)

खनिजों के लिये:

  • मोज़ कठोरता मापक्रम (Mohs hardness scale)

रबर, प्लास्टिक आदि के लिये:

  • शोर कठोरता (Shore hardness)

काष्ठ के लिये:

  • काष्ठ कठोरता मापक्रम (wood hardness scale)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें