साँचा:MarsGeo-Crater

मंगल ग्रह पर कुछ बहुत बड़े-बड़े क्रेटर्स का चित्र

काकोरी (मंगल ग्रह) पृथ्वी से करोड़ों मील दूर मंगल ग्रह पर स्थित एक क्रेटर का नाम है। इसका व्यास 29.7 किलोमीटर है और यह मंगल ग्रह के अक्षांश 41.8 व देशांतर 29.9 पर स्थित है। सन् 1976 में इसका नामकरण भारत के एक ऐतिहासिक शहर काकोरी के नाम पर किया गया था।[1][2]

काकोरी, भारत का एक नगरसंपादित करें

लखनऊ से लगभग बीस मील दूर काकोरी रेलवे स्टेशन के पास 9 अगस्त 1925 को केवल दस भारतीय क्रान्तिकारियों ने रामप्रसाद 'बिस्मिल' के नेतृत्व में ब्रिटिश राज के दौरान सरकारी खजाना लूट लिया था। सम्राट बनाम रामप्रसाद 'बिस्मिल' व अन्य क्रान्तिकारियों पर चलाये गये इस ऐतिहासिक मुकद्दमे को काकोरी काण्ड के नाम से जाना जाता है।

क्रान्तिकारियों द्वारा स्थापित हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन नामक पार्टी के लिये फ़ण्ड एकत्र करने में इन युवकों को अच्छी खासी कठिनाई हो रही थी। अंग्रेज़ों के डर से कोई इन्हें चन्दा देता न था और युवकों के अपने घरों की माली हालत अच्छी न थी। आखिरकार इन्होंने आयरलैण्ड के क्रान्तिकारियों का तरीका अपनायातेहुए और पार्टी के लिये पैसा उगाहने की नीयत से पहली डकैती 25 दिसम्बर 1924 (क्रिसमस) की रात को बमरौली में डाली जिसका नेतृत्व बिस्मिल ने किया था।[3]

बमरौली, बिचपुरी व द्वारकापुर में डाली गयी डकैतियों में कुछ खास रकम हाथ न आने के बाद ही पार्टी ने सरकारी खजाना लूटने की योजना बनायी। काकोरी स्टेशन के पास हुई इस डकैती में यद्यपि क्रान्तिकारियों को 10000 रुपयों से कम राशि ही हाथ लगी थी परन्तु ब्रिटिश सरकार ने मुकदमें में 10 लाख रुपये खर्च किये। पार्टी के 40 सदस्यों को पूरे हिन्दुस्तान से गिरफ़्तार किया गया। सरकार का तख्ता पलटने की साजिश में 4 को फाँसी व 16 अन्य क्रान्तिकारियों को कठोर कारावास सजा दी गयी।

काकोरी की घटना कोई मामूली घटना न थी। इतिहासकारों के अनुसार इस घटना ने भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की दशा और दिशा दोनों ही बदल दीं। 1927 में बिस्मिल अशफ़ाक, रोशनराजेन्द्र की फाँसी के बीस बरस बाद ही हिन्दुस्तान आज़ाद हो गया।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Categories for Naming Features on Planets and Satellites Archived 2 नवम्बर 2014 at WebCite, Gazetteer of Planetary Nomenclature, USGS Astrogeology Science Center, [NASA]
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 नवंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2013.
  3. चीफ कोर्ट ऑफ अवध जजमेंट 1927 नवलकिशोर प्रेस लखनऊ पृष्ठ 62 (Kept with political file 53/27 of Home department in the National Archives of India)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें