कालका रेल दुर्घटना

कालका मेल रेल दुर्घटना इस साल के सबसे बड़ी रेल दुर्घटनाओं में से एक है। यह दुर्घटना 10 जुलाई 2011 को उत्तरप्रदेश में कानपुर के निकट फतेहपुर के मालवा स्टेशन के पास हुई। इस दुर्घटना में कम से कम अस्सी लोगों की मौत हो गई है। जबकि साढ़े तीन सौ लोग घायल हो गए। इस रेल दुर्घटना में प्रशासनिक लापरवाही और प्रशासनिक उदासीनता के कई वाकये सामने आये। प्रधानमंत्री ने रेल मंत्रालय की ओर से मृतकों के परिजनों के लिए पांच-पांच लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा कर दी। मगर, रेल राज्यमंत्री मुकुल राय अपनी जिम्मेदारी से बचते नजर आए।