कालकूट अथवा हलाहल हिन्दू grantho में वर्णित वह विष है जो समुद्र मन्थन के समय क्षीरसागर से निकला था।[1]

समुद्र मन्थन चित्रात्मक निरूपण

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. शर्मा, महेश (२०१३). हिन्दू धर्म विश्वकोश. प्रभात प्रकाशन. पृ॰ ७७. मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2015.