मुख्य मेनू खोलें

किरीट दो अर्थों में प्रयुक्त होता है:

  1. एक प्रकार का मुकुट या मुकुट के रूप में धारण किया जाने वाला अलंकार - मंडन चाथ मुकुटं किरीटं पुंनपुंसकम्- (अमरकोश 2,102)। शोभा, विजय या राज्यश्री के चिह्नस्वरूप माथे पर बाँधे जानवाले आलंकारिक उपकरण तीन प्रकार के कहे गए हैं - मुकुट, अर्धचंद्र के आकार का; किरीट, नुकीला या एक शिखरवाला और माल, तीन शिखरोवाला। जान पड़ता है, किरीट का प्रयोग युद्ध के लिए सुसज्जित वीर ही अधिकतर करते थे। सुंदर एवं देदीप्यमान किरीट को धारण करने के कारण अर्जुन का एक नाम किरीटी हो गया था। मूतियों में किरीटमुकुट के अनेक रूप उपलब्ध हैं।
  2. कॉरोना सूर्य के वर्णमंडल के परे के भाग को किरीट (Corona) कहते हैं।