ख़कास भाषा

ख़कास​ रूस के साइबेरिया क्षेत्र में स्थित ख़कासिया गणतंत्र में ख़कास लोगों द्वारा बोली जाने वाली एक तुर्की भाषा है। ख़कास लोगों की आबादी लगभग ७५,००० है, जिनमें से २०,००० ख़कास​ भाषा बोलते हैं। सभी ख़कास​ बोलने वाले द्विभाषीय हैं और ख़कास​ के साथ-साथ
साइबेरिया के एक जगह पर खकासी लीपी में बनाई ग्र्फिटी

ख़कास​ (रूसी: Хакас, अंग्रेज़ी: Khakas) रूस के साइबेरिया क्षेत्र में स्थित ख़कासिया गणतंत्र में ख़कास लोगों द्वारा बोली जाने वाली एक तुर्की भाषा है। ख़कास लोगों की आबादी लगभग ७५,००० है, जिनमें से २०,००० ख़कास​ भाषा बोलते हैं। सभी ख़कास​ बोलने वाले द्विभाषीय हैं और ख़कास​ के साथ-साथ रूसी भाषा भी बोलते हैं। पारम्परिक रूप से ख़कास​ कई उपभाषाओं में विभाजित है और वे अलग-अलग ख़कास​ क़बीलों द्वारा बोली जाती हैं, जैसे कि साग़य​, क़ाचा, क़िज़िल, कोयबल, बेल्तिर, इत्यादि​। केमेरोवो ओब्लास्त के शोर लोगों की शोर भाषा भी आजकल ख़कास​ की ही एक उपभाषा समजी जाती है। ख़कास​ बोलने वाले अक्सर अपने आप को 'तादार' या 'तातार' कहते हैं, लेकिन ध्यान दें कि इससे तात्पर्य साइबेरियाई तातार और साइबेरियाई तातार भाषाएँ है, जो तातार लोग और तातार भाषा से काफ़ी भिन्न है।[1]

ख़कास​ भाषा
Хакас тілі (ख़कास​ तीली)
बोलने का  स्थान रूस
क्षेत्र ख़कासिया
मातृभाषी वक्ता २०,००० (२००७)
भाषा परिवार
तुर्की
उपभाषा
लिपि सिरिलिक
राजभाषा मान्यता
नियंत्रक संस्था कोई संगठन नहीं
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 kjh

नाम का उच्चारणसंपादित करें

'ख़कास' में 'ख़' अक्षर के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिन्दु वाले 'ख' से ज़रा भिन्न है। इसका उच्चारण 'ख़राब' और 'ख़रीद' के 'ख़' से मिलता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Historical Dictionary of the Russian Federation Archived 2 अक्टूबर 2014 at the वेबैक मशीन., Robert A. Saunders, Vlad Strukov, pp. 307, Scarecrow Press, 2010, ISBN 978-0-8108-5475-8, ... The Khakas language, which was developed in its literary form after the 1917 Bolshevik Revolution, is a member of the Northeastern (Siberian) Turkic family, related to Yakut and Tuvan ...