ख़ालिस्तान (पंजाबी: ਖ਼ਾਲਿਸਤਾਨ) प्रस्तावित देश का नाम है।[1] सिख अधिकतर भारतीय पंजाब में आबाद हैं और अमृतसर में उनके मत्वपूर्ण राजनैतिक और धार्मिक अकाल तख़्त स्थित है। 1980 के दशक में ख़ालिस्तान की प्राप्ति के आंदोलन ज़ोरों पर थे जिसे विदेशों में रहने वाले सिखों का वित्तीय और नैतिक समर्थन हासिल था।[2] भारत सरकार ने अमृतसर पर सैन्य कार्रवाई करके इस आंदोलन को कुचल डाला। कनाडा में बबर खालसा पर यह आरोप भी लगा कि उसने भारतीय यात्री विमान को उड़ान के दौरान टाइम बम द्वारा विस्फोट करके उसे नष्ट कर दिया। आतंकवाद पर युद्ध शुरू होने के बाद यह विमान घटना कनाडा और पश्चिमी मीडिया में ख़ूब उछाला गया।[3]

अप्रतिनिधित राष्ट्र और जन संगठन द्वारा स्वीकृत ख़ालिस्तान के लिए एक प्रस्तावित झंडा

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Globalization and Religious Nationalism in India". books.google.com. मूल से 29 जून 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अगस्त 2017.
  2. "Sikh separatists 'funded from UK'". BBC. 4 March 2008. अभिगमन तिथि 28 August 2008.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 2 मई 2007 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 मई 2007.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें