खुद्दार (1994 फ़िल्म)

1994 की हिन्दी भाषा में प्रदर्शित फ़िल्म

खुद्दार इकबाल दुर्रानी द्वारा निर्देशित और गोविंदा, करिश्मा कपूर और कादर ख़ान अभिनीत 1994 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। अन्य कलाकारों में शक्ति कपूर, श्रीराम लागू, अंजना मुमताज़, और अनिल धवन शामिल हैं। यह सत्यराज अभिनीत तमिल फिल्म वाल्टर वीट्रिवल की रीमेक है।

खुद्दार
खुद्दार.jpg
खुद्दार का पोस्टर
निर्देशक इकबाल दुर्रानी
अभिनेता गोविन्दा,
करिश्मा कपूर,
शक्ति कपूर,
कादर ख़ान,
श्रीराम लागू,
अंजना मुमताज़,
राजू zश्रेष्ठ
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) 25 मार्च, 1994
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

शास्त्री सूरी (श्रीराम लागू) ईमानदार मध्यम वर्गीय पृष्ठभूमि से आते है। उन्होंने अपने बेटे, पुलिस निरीक्षक सिद्धांत सूरी (गोविंदा) और बेटी बिंदीया और दूसरे पुत्र नंदू (राजू श्रेष्ठ) को भी इसी तरह पाला है। लेकिन नंदू बुरी संगत में पड़ गया है। वह कर्ज में है और अपना कर्ज चुकाने में असमर्थ है। इसलिए, वह पूजा (करिश्मा कपूर) के घर पर लूटपाट करने का फैसला करता है। जब पूजा उसे ऐसा करते देख लेती है, तो वह उस पर हमला करता है और नतीजतन पूजा अपनी दृष्टि खो देती है। बाद में अंधी पूजा सिद्धात से शादी करती है। वह यह नहीं जानती कि उसका हमलावर उसका देवर है।

शास्त्री का कर्मचारी कन्हैयालल (कादर खान) लालची और महत्वाकांक्षी हैं। जब शास्त्री चुनाव के लिए खड़े होते हैं, तो उनका भ्रष्ट और अपमानजनक आदर्श वर्धन (शक्ति कपूर) द्वारा दृढ़ता से विरोध किया जाता है। बेईमानी द्वारा, आदर्श चुनाव जीतता है और सूरी परिवार को अपमानित करने का फैसला करता है। वह अपने लिये अंगरक्षक सिद्धांत सूरी को ही माँगता है। सिद्धांत को अब पुलिस बल के साथ रहने और भ्रष्ट नेता की सेवा करने के बीच चयन करना होगा। सिद्धांत सेवा करने का विकल्प चुनता है, लेकिन केवल इसलिये कि वह भ्रष्ट मंत्री और उसके व्यवहार के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है और उसे जनता के सामने प्रकट कर सकता है। अंततः सिद्धांत ने रैली में इकट्ठे लोगों के लिए इसका खुलासा किया और मंत्री को भागने के लिए मजबूर होना पड़ा। पूजा की आँखें संचालित होती हैं और उनकी दृष्टि बहाल होती है। वह नंदू को पहचानती है और सिद्धांत अपने भाई पर बदला लेता है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत अनु मलिक द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."खत लिखना हमें खत लिखना"राहत इन्दौरीसोनू निगम, अलका याज्ञिक4:48
2."रात क्या माँगे एक सितारा"ज़फ़र गोरखपुरीअलका याज्ञनिक7:03
3."सेक्सी सेक्सी मुझे लोग बोले"इन्दीवरअलीशा चिनॉय, अनु मलिक7:54
4."तेरे दीवान ने तेरा नाम"देव कोहलीकुमार सानु, अलका याज्ञिक6:34
5."तुम मानो या ना मनो"राहत इन्दौरीकुमार सानु, अलका याज्ञिक7:34
6."तुमसा कोई प्यारा कोई मासूम"राहत इन्दौरीकुमार सानु, अलका याज्ञिक5:42
7."वो आँख ही क्या तेरी सूरत"ज़मीर काज़मीकुमार सानु, अलका याज्ञिक7:01
8."वो आँख ही क्या तेरी सूरत" (II)ज़मीर काज़मीसोनू निगम7:46
कुल अवधि:54:22

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें