खोवार भाषा (کھوار‎, Khowar), जिसे चित्राली भाषा भी कहते हैं, पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत के चित्राल ज़िले में और गिलगित-बालतिस्तान के कुछ पड़ोसी इलाकों में लगभग ४ लाख लोगों द्वारा बोली जाने वाली एक दार्दी भाषा है। शीना, कश्मीरी और कोहिस्तानी जैसी अन्य दार्दी भाषाओँ के मुक़ाबले में खोवार पर ईरानी भाषाओँ का प्रभाव ज़्यादा है और इसमें संस्कृत के तत्व कम हैं। खोवार बोलने वाले समुदाय को 'खो लोग' कहा जाता है। खोवार आम तौर पर अरबी-फ़ारसी लिपि की नस्तालीक़ शैली में लिखी जाती है।[1]

खोवार
Khowar / کهووار
चित्राली
बोलने का  स्थान पाकिस्तान
तिथि / काल 2004
क्षेत्र चित्राल ज़िला
समुदाय खो लोग
मातृभाषी वक्ता 2,90,000
भाषा परिवार
लिपि खोवार लिपि (अरबी लिपि)
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 khw
भाषावेधशाला 59-AAB-aa

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. The Indo-Aryan Languages Archived 11 जनवरी 2014 at the वेबैक मशीन., Colin P. Masica, Cambridge University Press, 1993, ISBN 978-0-521-29944-2