ग्राहम रीड (जन्म 9 अप्रैल 1964) एक पूर्व ऑस्ट्रेलियाई मैदानी हॉकी खिलाड़ी है जो ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय टीम के लिए डिफेंडर और मिडफील्डर के रूप में खेले। वह बार्सिलोना, स्पेन में 1992 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाली टीम का सदस्य थे। अप्रैल 2019 में उन्हें भारतीय हॉकी राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच के रूप में नियुक्त किया गया था।[1]

अंतर्राष्ट्रीय करियरसंपादित करें

ग्राहम 1984, 85, 86, 87, 88, 89, 90, 91 और 1992 तक नौ बार चैम्पियसं ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलियाई टीम के सदस्य रहे हैं। उन्होंने अपने करियर में 130 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले।[2] ग्राहम रीड 2014 से 2016 तक ऑस्ट्रेलिया की हॉकी टीम के मुख्य कोच थे। वह 2017 में नीदरलैंड टीम के सहायक कोच बने थे, जिसने 2018 के विश्व कप में रजत पदक जीता था।[3]

संदर्भसंपादित करें

  1. "ग्राहम रीड होंगे भारत की सीनियर पुरुष हॉकी टीम के नए चीफ कोच". Amar Ujala. मूल से 22 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-11-29.
  2. "अटकलों पर लगा विराम, ग्राहम रीड बने भारतीय हॉकी टीम के चीफ कोच". hindi.timesnownews.com. मूल से 8 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-11-29.
  3. Pandey, Shubham (2019-04-08). "ग्राहम रीड बने भारतीय हॉकी टीम के मुख कोच, टारगेट पर मिशन ओलंपिक 2020". India TV Hindi (hindi में). अभिगमन तिथि 2019-11-29.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)