मुख्य मेनू खोलें

छप्पय मात्रिक विषम छन्द है। यह भी संयुक्त छन्द है, जो रोला (11+13) चार पाद तथा उल्लाला (15+13) के दो पाद के योग से बनता है।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें