आंखों का ऐसा दोष है जिसमें में निकटदृष्टि दोष और दूर दृष्टि दोष (दूरदृष्टिता) दोनों दोष होता है जिसमें मनुष्य दूर की वस्तु तथा नजदीक की वस्तु को स्पष्ट नहीं देख पाता है | आँख के ऐसे दोष को जरादृष्टि दोष कहते हैं |

जरादृष्टि दोष का कारणसंपादित करें

आँख में जरादृष्टि दोष होने का कारण है समायोजन क्षमता का कम हो जाना| अक्सर आँख में ऐसे दोष उम्र ढलने के पश्चात ही दिखाई देता है| इस प्रकार के दोष से निवारण के लिए हमें द्विफोकसी लेंस का प्रयोग करना चाहिए।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें