ज़रफ़शान (उज़बेक: Зарафшон, ज़रफ़शोन; अंग्रेज़ी: Zarafshan) मध्य एशिया के उज़बेकिस्तान देश के नवोई प्रान्त का एक शहर है। भौगोलिक निर्देशांकों के हिसाब से यह नगर ४१°३६'२९ उत्तर और ६४°१३'३५ पूर्व में स्थित है। सन् २००७ में इसकी आबादी ६५,००० से थोड़ी ज़्यादा अनुमानित की गई थी। यह शहर किज़िल कुम रेगिस्तान के क्षेत्र में पड़ता है लेकिन इसके लिए पानी का प्रबंध आमू दरिया से आने वाली एक २२० किमी लम्बी पाइप-लाइन से किया जाता है। ज़रफ़शान को 'उज़बेकिस्तानी सोने की राजधानी' कहा जाता है क्योंकि यहाँ पर नज़दीकी मुरुताऊ सोने की खान से सम्बंधित व्यापारिक कार्यालय हैं। ज़रफ़शान एक नया शहर है जिसकी स्थापना सोना निकालने के उद्योग की वजह से हुई और, उज़बेकिस्तान में स्थित होने के बावजूद, यहाँ रूसी लोगों की आबादी उज़बेक लोगों से अधिक हैं।[1][2]

ज़रफ़शान शहर की एक ईमारत

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Post-Soviet geography, Volume 33, Issues 1-5, V.H. Winston & Son, Inc., 1992, ... The local urban settlement known as Zarafshan (now considered a city) was specifically established to support the mine ...
  2. Russians in the former Soviet republics Archived 2014-06-30 at the Wayback Machine, Pål Kolstø, Andrei Edemsky, Indiana University Press, 1995, ISBN 978-0-253-32917-2, ... Certain new industrial cities, such as Navai and Zarafshan, have a predominantly European population ...