मुख्य मेनू खोलें

जैन भोजन की समाविष्टि जैन धर्म के अंतर्गत हुई हैं, जो सात्विकता से परिपूर्ण, अहिंसक शाकाहारी भोजन हैं। जैन भोजन न केवल मांसाहार का त्याग करता हैं, बल्कि आम शाकाहार से वृहत्, वह कंदमूल (जमीकंद) को भी अभक्ष्य मानता हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें