जोहार घाटी, जिसे मिलम घाटी या गोरीगंगा घाटी भी कहते हैं, भारत के उत्तराखण्ड राज्य में स्थित एक प्रसिद्ध घाटी है। गोरी नदी इसी घाटी से होकर बहती है। एक समय में इस घाटी से तिब्बत के लिए महत्वपूर्ण व्यापारिक रास्ते निकलते थे। मिलम और मारतोली घाटी में स्थित प्रमुख ग्राम हैं। 

मुनस्यारी के समीप जोहार घाटी तथा मध्य में बहती गोरी नदी का दृश्य

जोहार घाटी के १२ गांव मिलम हिमनद से निकलने वाली गोरी नदी के किनारे बसे हैं। मुनस्यारी से ६ हजार से १० हजार फीट तक ऊंचाई पर बसे इन गांवों तक पहुंचने के लिए ६५ किमी का पैदल सफर तय करना पड़ता है।[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "जोहार घाटी के लोगों की पहचान है गांव". हल्द्वानी: अमर उजाला. ९ नवम्बर २०१३. मूल से 24 अप्रैल 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २३ अप्रैल २०१८.

विस्तृत पठनसंपादित करें

  • गर्ब्याल, धीरज सिंह; पाण्डे, अशोक (२०१६). Tryst with Summits: The Johar Valley of Uttrakhand (अंग्रेज़ी में). कुमाऊँ मण्डल विकास निगम प्रकाशन. मूल से 24 अप्रैल 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २३ अप्रैल २०१८.