अंगूठाकार|தமிழ் அன்னை-Tamil Thai तमिल देवी का आह्वान (तमिल: தமிழ்த் தாய் வாழ்த்து, तमिल ताय वालत्तू), तमिलनाडु सरकार का राज्य गीत है। इस गीत के रचयिता मनोनमनियम सुंदरम पिल्लै हैं। तमिलनाडु सरकार के सभी सरकारी समारोहों की शुरुआत इस गीत के साथ और समापन भारतीय राष्ट्रगान से होता है।

आधिकारिक तमिल संस्करण और हिन्दी (देवनागरी) लिप्यन्तरणसंपादित करें

इस राज्यगीत का आधिकारिक संस्करण इस प्रकार है:

நீராரும் கடல் உடுத்த நில மடந்தைக் கெழிலொழுகும்
சீராரும் வதனமெனத் திகழ்பரதக் கண்டமிதில்
தெக்கணமும் அதிற்சிறந்த திராவிட நல் திருநாடும்
தக்கசிறு பிறைநுதலும் தரித்தநறும் திலகமுமே!
அத்திலக வாசனைபோல் அனைத்துலகும் இன்பமுற,
எத்திசையும் புகழ்மணக்க இருந்த பெரும் தமிழணங்கே!
தமிழணங்கே!
நின் சீரிளமைத் திறம்வியந்து
செயல் மறந்து வாழ்த்துதுமே!
வாழ்த்துதுமே!
வாழ்த்துதுமே!

नीरारुम् कडल् उडुत्त निल मडन्दैक् केळिलोळुगुम्
सीरारुम् वदनमेनत् तिगळ्भरत कण्डमिदिल्
तेक्कणमुम् अदिर्सिरन्द द्राविड नल् तिरुनाडुम्
तक्कसिरु पिरैनुदलुम् तरित्तनरुम् तिलकमुमे
अत्तिलक वासनैपोल् अनैत्तुलगुम् इन्बमुर
ऍत्तिसैयुम् पुगळ् मणक्क इरुन्द पेरुम् तमिळणंगे!
तमिळणंगे !
निन् सिरिलमैत् तिरम्वियन्दु
सेयल् मरन्दु वाळ्त्तुदुमे !
वाळ्त्तुदुमे !
वाळ्त्तुदुमे !

प्रामाणिक हिन्दी अनुवादसंपादित करें

"भारत लहराते समुद्र में लिपटे पृथ्वी के सजीले चेहरे के समान है, दक्कन उसके अर्धचन्द्राकार मस्तक के समान है जिस पर धन्य द्रविड़ देश सुगंधित ‘तिलक’ है। जिस प्रकार इस ‘तिलक’ की सुगंध से सारा विश्व आनंद में सराबोर है उसी प्रकार इसकी तमिल देवी का यश दूर दूर तक फैला है। हे तमिल देवी तुम्हारी जय हो, तुम्हारा राजसी यौवन, श्रद्धा और उत्साह को प्रेरित करता है।"

सन्दर्भसंपादित करें