तुलनात्मक भूगोल (अंग्रेजी: Comparative geography) भूगोल विषय का एक उपागम है जिसमें विभिन्न स्थानों अथवा क्षेत्रों के तुलनात्मक भौगोलिक अध्ययन को अधिक महत्व प्रदान करते हुए उनकी विशिष्टताओं का एक दूसरे के सापेक्ष वर्णन, विश्लेषण एवं व्याख्या की जाती है। इसके जनक के रूप में कार्ल रिटर को माना जाता है[1] और यह प्रादेशिक भूगोल के अध्ययन का पूर्ववर्ती उपागम माना जाता है।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. कार्ल रिटर की कम्पेरेटिव ज्योग्राफी Archived 2016-08-18 at the Wayback Machine, आर्काइव, (अंग्रेज़ी में), अभिगमन तिथि 25-11-2014

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें