२५ दिसंबर २०१५ को हिंदू कुश के क्षेत्र में एक 6.3 परिमाण के भूकंप[1][3][4] ने दक्षिण एशिया को प्रभावित किया।[5] पाकिस्तान में एक महिला की मृत्यु हो गई। पाकिस्तान और अफगानिस्तान में कम से कम 100 लोग घायल हो गए।[6] भूकंप को ज्यादातर ताजिकिस्तान और भारत में महसूस किया गया था। अफगानिस्तान-तजाकिस्तान के सीमा क्षेत्र में भूकंप का केंद्र 203.4 किलोमीटर की गहराई पर होने की सूचना मिली थी।[7]

December 2015 Hindu Kush earthquake
तारीख 25 दिसम्बर 2015 (2015-12-25)
परिमाण 6.3 Mw[1]
गहराई 203.4 कि॰मी॰ (667,000 फीट)
प्रभावित देश या इलाके Flag of Afghanistan.svg अफ़ग़ानिस्तान
Flag of Pakistan.svg पाकिस्तान
Flag of India.svg भारत
अधि. तीव्रता VI (शक्तिशाली)
हताहत 4[2]

पृष्ठभूमिसंपादित करें

 
क्षेत्रीय टेक्टोनिक प्लेटों के चित्रण का मानचित्र
क्षेत्र मरने वालों की
संख्या[2]
घायलों की
संख्या
  पाकिस्तान ख़ैबर पख़्तूनख़्वा 3 83
  पाकिस्तान गिलगित-बल्तिस्तान 1 5
  अफ़ग़ानिस्तान नंगरहार प्रान्त 12
कुल 4 100
  • उसी क्षेत्र में अक्टूबर २०१५ में 7.3 Mw का भूकंप[8] महसूस किया गया गया था जिसमे पाकिस्तान[9] और अफ़गानिस्तान में कुल 398 लोगों की मृत्यु और 2,536 घायल हुए थे।[10]
  • दक्षिण एशिया के पहाड़, टेक्टोनिक प्लेटों की टक्कर से ऊपर ढकेले जाने के कारण, विनाशकारी भूकंप से ग्रस्त हैं। अप्रैल 2015 में एक भूकंप, जो नेपाल के 80 वर्षो में सबसे भीषण भूकंप था, जिसमे 9,000 से अधिक लोग मारे गए।[11]
  • पिछली बार उसी क्षेत्र में समान परिमाण वाला 7.6 Mw का भूकंप ठीक दस वर्ष पहले अक्टूबर, 2005 में आया था जिसके परिणामस्‍वरूप 87,351 लोगों की मृत्‍यु हुई, 75,266 घायल हुए, 2.8 मिलियन (28 लाख) लोग विस्‍थापित हुए और 250,000 मवेशी मारे गए थे। इस भूकंप और 2005 में आए भूकंप के बीच उल्लेखनीय अंतर भूकंपीय गतिविधि की गहराई का है। इस भूकंप में 212.5 किमी की गहराई थी, जबकि 2005 में आए भूकंप में केवल 15 किमी की ही गहराई थी।[12]

हाल के अध्ययन में, भूवैज्ञानिकों का दावा है कि भूमंडलीय ऊष्मीकरण में वृद्धि, हल ही में हुई भूकंपीय गतिविधि के कारणों में से एक है। इन अध्ययनों के अनुसार ग्लेशियरों के पिघलने और बढते समुद्र के जल स्तर से पृथ्वी की टेक्टोनिक प्लेटों पर दबाव का संतुलन अस्तव्यस्त है और इस प्रकार भूकंप की तीव्रता आवृत्ति में वृद्धि के कारण हैं। यही कारण है कि हिमालय हाल के वर्षों में भूकंप से ग्रस्त हो रहे हैं।[13][बेहतर स्रोत वांछित]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें


सन्दर्भसंपादित करें

  1. "M6.3 - 41km WSW of Ashkasham, Afghanistan". United States Geological Survey. December 26, 2015. अभिगमन तिथि December 25, 2015.
  2. "Earthquake leaves 4 dead, more than 100 injured in Afghanistan and Pakistan". Fox News. 26 December 2015. मूल से 28 दिसंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 दिसंबर 2015.
  3. "Strong 6.2 magnitude earthquake jolts parts of Pakistan, Afghanistan". The Express Tribune. 26 December 2015.
  4. "Earthquake in Pakistan kpk".
  5. "Quake rattles areas in Punjab, KPK, Azad Kashmir". Samaa TV.
  6. "Dozens injured in Afghan quake". The Australian. December 26, 2015. अभिगमन तिथि December 26, 2015.
  7. The Associated Press. "6.2-Magnitude Earthquake Hits Northern Afghanistan and Pakistan". NBC News.
  8. "M7.5 – 45km N of `Alaqahdari-ye Kiran wa Munjan, Afghanistan". United States Geological Survey. 26 December 2015. मूल से 26 अक्तूबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 दिसंबर 2015.
  9. "Live Updates". ndma.gov.pk. 5 November 2015. मूल से 21 नवंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 December 2015.
  10. "The Latest: UN Mobilizing to Aid Quake Victims". The Associated Press. ABC News. 26 October 2015. मूल से 30 अक्तूबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 December 2015.
  11. प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (23 May 2015). "Nepal earthquake death toll reaches 8,635, over 300 missing". द इंडियन एक्सप्रेस. मूल से 22 दिसंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 December 2015.
  12. "Afghanistan Struck by Powerful Earthquake". दि न्यू यॉर्क टाइम्स. 26 October 2015. मूल से 26 अक्तूबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 October 2015.
  13. "Nepal earthquake could have been manmade disaster climate change brings". Newsweek. अभिगमन तिथि 26 December 2015.[मृत कड़ियाँ]