मुख्य मेनू खोलें

दीप्ति नवल (अंग्रेजी Deepti Naval) (जन्म 03 फरवरी, 1952) हिन्दी फिल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री हैं। वह जुनून, 'चश्मे बद्दूर', 'कथा' और 'साथ-साथ' जैसी कलात्मक एवं अर्थपूर्ण फिल्मों में अपने सशक्त अभिनय के लिए जानी जाती हैं। उनका व्यक्तित्व बहुआयामी है| वे कवयित्री[1] और चित्रकार होने के साथ साथ एक कुशल छायाकार भी हैं| इसके अतिरिक्त उन्हें संगीत से भी बहुत लगाव है और वे खुद भी कई वाद्य यंत्र बजा लेती हैं| उनकी प्रकाशित पुस्तकों में लम्हा-लम्हा बहुत मकबूल हुई है|

जीवनसंपादित करें

जन्म: 22 अगस्त 1957 उपनाम :नवल जन्मस्थान अमृतसर, पंजाब, भारत

दीप्ति नवल का बचपन अमरीका के न्यूयार्क में बीता जहां उनके पिता सिटी यूनिवर्सिटी में शिक्षक थे। दीप्ति नवल को बचपन से ही अभिनय के साथ—साथ चित्रकारी एवं फोटोग्राफी का शौक था। [2]

फिल्मी कैरियरसंपादित करें

उन्होंने अपने फिल्म कैरियर की शुरूआत 1978 में उस समय के जाने—माने फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल की फिल्म फिल्‍म 'जूनुन' की लेकिन उन्हें असली लोकप्रियता 1980 में प्रदर्शित फिल्म 'एक बार फिर' से मिली। ​जिन फिल्मों के लिए वह जानी जाती हैं उनमें 'चश्मे बद्दूर', 'कथा' और 'साथ-साथ' प्रमुख हैं। [3]

प्रमुख फिल्मेंसंपादित करें

वर्ष फ़िल्म चरित्र टिप्पणी
1991 माने
1991 एक घर
1983 रंग बिरंगी
1982 अंगूर
1982 श्रीमान श्रीमती वीना
1980 हम पाँच लजिया
1980 एक बार फिर कल्पना कुमार

पुरस्कार एवं नामांकनसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

  1. "ये हैं दीप्ति नवल की 3 श्रेष्ठ कविताएं..." Amar Ujala.
  2. "जब खुद पर लगे आरोपों को पढ़कर चौंक गई थीं दीप्ति नवल". prabhatkhabar.
  3. "Deepti Naval". imdb (अंग्रेज़ी में).